4 Fire Lyrics in Hindi – Nav Dolorain

0
29
4 fire lyrics

हेल्लो दोस्तों आज हमने आपको 4 Fire Lyrics Song को हिंदी में बताने की कोशिस की हैं इस Song का नाम 4 Fire हैं | जो की Nav Dolorain ने गाया हैं और इस गाने का संगीत Prince Sembhi ने दिया हैं | इस गाने को Arsh Sohal ने लिखा हैं और 47 Records ने इस गाने का प्रदर्शन किया है |

4 Fire Lyrics in Hindi
Singer:- Nav Dolorain
Music Director:- Prince Sembhi
Lyrics:- Arsh Sohal
Label:- 47 Records

4 Fire Lyrics in Hindi

ओ फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार
फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार

Aashq Mitti De Lyrics – Sippy Gill

पहला अंतरा
संजय दत्त वरगा ऐ टच यार दा
वैरी देख के आ दूरों भजदा
ओ साढ़े नाल छोट्या तू खहन्दा फिरदा
तैनू जान नी प्यारी लगदा
कमौढा विच भोंकदे ने
गोडे फिर कुटदे ने
रख दे सी पहलियाँ चह साढ़े नाल खार
ओ फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार
फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार

Jatt Banday Lyrics – Sippy Gill

दूसरा अंतरा
ओ बिना हट्टी ओये इंजन बड़े करते मैं ऑन
सिर ते क्राउन हैड हुन्दा नियो डाउन
ओ मोटर ते घोले पाये घट्टे गुड़ दे
आथन वेले नू यार जांदे जुड़ दे
बैग जिना नाल भरे पिया पीपे लोहे दे
वैरियाँ ते कफन आ पाके मुड़ दे
ओ फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार
फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार

7 Birth Lyrics – Sippy Gill

तीसरा अंतरा
ओ जेहड़े नू तू अपना उस्ताद दसदा
पेहलियाँ दे विच ओहि रौलता
मौत दे सौदागरां चौं नाम बोलदा
बैकग्राउंड भावे छोटे फोरला
हथ जिंनु वी आ पाया सिरे ही ए लाया
छड़याँ नी ओ कोयी वी अध विच कार
ओ फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार
फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार

Fake Souls Lyrics – Sippy Gill

चौथा अंतरा
ना फुकरियाँ वांगूं भाली हवा करदे
तेरा अर्श नी जाने हिक विच वजना
किते शो मैच देखी मित्रां दी कुट दा
तैनू वास्तव मूवी वाला सीन लगना
कोयी अंख चक घूरे जदों खड़े आ मुरहे
ऐटियाँ नू चढ्डे आ डर नाल भुखार
ओ फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार
फेर कढ़ने में चार
करु हिक उत्ते वार
एक दिल दे विचाले
बाकी खोपड़ी तों पार

Zara Sa Lyrics – Jannat (K.K)


अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे जिससे हम नए नए गानों के लिरिक्स और जल्दी आपके सामने ला सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here